एक समय वह भी था जब हम छुट्टी वाले दिन रविवार को हमारे नेशनल टिवी से चिपक सुबह की रंगोली का आनंद ले रहे होते थे कि अचानक हमारे टेलीविज़न में झरझराहट शुरू जाती थी। अच्छे खासे चल रहे टीवी में पिक्चर और साउंड के बीच का तालमेल खत्म हो जाता था और हम भागते थे अपने टीवी के एंटीना को एक अमुख एंगल पर सेट करने। और बड़ी ही मेहनत के बाद फिर से हम अमिताभ और सलमान के गाने का आनंद ले पाते थे। और उस समय हम कोसते थे तो अपने टीवी व इसके ऐन्टेना की फ्रीक्वेंसी को। लेकिन आज हम बिना लंबी एंटीना के ना सिर्फ टीवी दखते हैं बल्कि सात समंदर पर बिना किसी रुकावट के बात और वीडियो चैटिंग भी कर रहे हैं। क्या आपने कभी यह सोचा कि यह बिना mobile antenna के भी संभव है?

टेकमोहल्ला में हमसे एक हमारे पाठक ने जानना चाहा है कि हमारे मोबाइल में एंटीना क्यों नहीं होता? यानी कि हम अपने मोबाइल से बिना एंटीना के ही कोई लाइव स्ट्रीमिंग या क्रिकेट का मैच कैसे देख लेते हैं जबकि इसमे कोई केबल का तार भी नही लगा होता है? हम अपने मोबाइल फोन से कैसे बात कर सकते हैं जबकि इसमें लैंडलाइन के माफिक कोई अंडरग्राउंड तार नहीं होता है?

Why Mobiles do not have antenna
Why Mobiles do not have antenna


दोस्तों यह एक ऐसा प्रश्न है जो हमलोगों के मन मे आता तो है पर अपने भाग दौड़ की ज़िंदगी मे व्यस्त होने कारण इस प्रश्न का कोई सटीक उत्तर नहीं मिल पाता है। तो चलिए आज हम मोबाइल और उसके एंटीना (mobile antenna) के बारे में बात शुरू करते हैं . क्योंकि आज मोबाइल केवल मनोरंजन ही नहीं वरन हमारी ज़रुरत बन गया घी. हर छोटे -बड़े कार्य को करने के लिए इसकी ज़रुरत महसूस होती है . ऐसे में अगर आपका फोन सही समय पर आपको साथ न दे तो परेशानी का सबब बन सकता है. इसलिए हम इस आर्टिकल में कुछ फोन की भी बात करेंगे जिसमे नेटवर्क कैचिंग की समस्या को हल करने की कोशिश की गयी है . हमने आपकी सुविधा के लिए प्रोडक्ट के साथ सही लिंक भी दिया है जिसे आप चाहें तो खरीद सकते हैं .

Why mobile phone does not have an antenna ?

दोस्तों, मोबाइल और उसके एंटीना के बारे में जानने से पहले है भौतिकी के कुछ साधारण नियम जानने आवश्यक हैं . खासकर ध्वनि तरंग जिसे हम Sound Waves भी कहते हैं और आवृति जिसे हम Frequnecy के नाम से जानते हैं .

ध्वनि तरंग क्या है ?

हम जानते हैं की जिन यांत्रिक तरंगों की आवृत्ति Frequnecy 20Hz से 2000Hz के बीच होती है, उनकी अनुभूति हमें अपने कानों के द्वारा होती है, और इन्हें हम ध्वनि के नाम से पुकारते हैं. इसके ऊपर या नीचे का रेंज हमारे कान के लिए ग्राह्य नहीं होता है . इस प्रकार के तरंग को हम श्रव्य तरंगें कहते हैं.

2000Hz से ऊपर की तरंगों को पराश्रव्य तरंगें ((ultrasonic waves)) कहा जाता है जिसे मुनष्य का कान नहीं सुन सकता है. परंतु कुछ जानवर जैसे :- कुत्ता,बिल्ली,चमगादड़ आदि, इसे सुन सकते है. ऐसे तरंगों को उपयोग संकेत भेजने में, समुद्र की गहराई का पता लगाने में , दूध के अंदर के हानिकारक जीवाणुओं की नष्ट में, गठिया रोग के उपचार एवं मष्तिष्क के ट्यूमर का पता लगाने में करते हैं.
इसी प्रकार 20Hz से नीचे से आवृत्ति वाली ध्वनि तरंगों को अवश्रव्य तरंगें ((infrasonic waves)) कहते हैं और इसे भी हमारा कान नहीं सुन सकता है क्योंकि इस प्रकार की तरंगो को बहुत बड़े आकर के स्रोत्रों से उत्पन्न किया जा सकता है.

आवृति या Frequnecy क्या है ?

दोस्तों, कोई बार-बार दोहराई जाने वाली घटना , एक इकाई समय में जितनी बार घटित होती है उसे उस घटना की आवृत्ति (frequency) कहते हैं। आवृति की इकाई हर्ट्ज (Hz) होती है।

हमारे मोबाइल फोन में एंटीना क्यों नहीं होता ?

तो चलिये ये तो हुआ ध्वनि तरंग और आवृत्ति . और यही से शुरू होता है मोबाइल फ़ोन या रडियो या टीवी पर देखे-सुने जाने वाले प्रोग्राम के बारे में .

टेक्नोलोजी के क्रमिक विकास में एंटीना के डिजाईन और इसके प्रोसेसिंग में भी काफी बदलाव हुआ है जिससे यह एक बेहतर सिग्नल २-३ छोटे-छोटे एंटीना के साथ बड़ी आसानी से कैच कर सकता है .आये दिनों में सेल नेटवर्क भी काफी घना हुआ है जिससे हमारे मोबाइल का नेटवर्क काफी अच्छा हुआ है . क्या आपने एप्पल के मोबाइल पीछे वाले कैमरे के नीचे एक उजले कलर की चौड़ी पट्टी देखी है , आखिर या पट्टी किसलिए लगाई गयी है ? इसी तरह HTC के पीछे वाले कैमरे के साथ भी एक छोटी सी लम्बी एल्युमीनियम के रंग का का निशान देखा होगा . क्या है यह ? यह और कुछ नहीं मोबाइल के नेटवर्क में रहने में सहायता करता है .

लेकिन , ऐसा नहीं है की हमारे मोबाइल फोन में एंटीना नहीं होता है . मोबाइल फोन का एंटीना ( Mobile Antenna ) काफी सूक्षम होता है. क्योंकि नए फोन में काफी उच्च स्तर का Frequency band होता है. नेटवर्क सम्बंधित एक नियम यह है की the higher the frequency the smaller the size of the antenna अर्थात जितनी उच्च स्तर की आवृति उतने ही कम साइज़ का एंटीना .

हमारे मोबाइल फोन में एंटीना कहाँ होता है ?

यह frequency और size एक दूसरे से जुड़े हैं . उदहारण के तौर पर एक सेलफोन जो 900MHz से 1800MHz के बिच ऑपरेट करता है उसके एंटीने का साइज़ 8-16.5cm long के आस-पास होता है . अगर हम एक साधारण dipole antenna का उपयोग करें तो हमें इसके २ की आवश्यकता होती है जो की 4-8cm antennas के करीब होगी .

नीचे के तस्वीर में मोबाइल का एंटीना (mobile antenna)देखें .

TechMohalla Pic: Mobile Antenna

आयरलैंड की एक संस्था communications regulator (COMREG) ने २०१८ में एक टेस्ट किया की किस फ़ोन का नेटवर्क कवेरेज बेहतर है. जिसमे डोरो कंपनी टॉप पर रही और उसके बाद सैमसंग और रेड्मी रही इसके बाद की लिस्ट बहुत ही लम्बी है . हम कुछ बेहतर नए फ़ोन के बारे में भी आपको बताएँगे जिसका नेटवर्क सिग्नल काफी अच्छा है जिससे आपकी बातचीत बिना बार -बार डिसकनेक्ट हुए होती है .

ऐसे फोन जिसमे मोबाइल की कनेक्टिविटी अच्छी है

जैसा की हमने पहले ही आपसे वादा किया है हम आपको कुछ अच्छे फोन के भी बारे में बताएँगे जिसका नेटवर्क सिग्नल काफी अच्छा है . टेक मोहल्ला में हम उन प्रोडक्ट्स की बात करते हैं जो अच्छे और सस्ते हैं . जिनके ऑनलाइन रिव्यु भी सटीक और ज्यादा अच्छे होते हैं ताकि हम कम पैसे में भी उच्च क्वालिटी के सामान का उपयोग कर सकें . यह फोन आप नीचे दिए लिंक से कम कीमत पर खरीद सकते हैं . ज्यादातर लोग बिना रिसर्च के किसी भी दुकान या ऑनलाइन स्टोर पर बेवजह ज्यादा पैसे देकर अपने आप को ठगा महसूस करते हैं . आज हम बात करेंगे दो मोबाइल के बारे में जिसका बनावट और तकनीक दोनों ही बहुत ही ज्यादा नया है , रिलाएबल है . जहां डिस्टर्बेंस नहीं है . बिना किसी एक्स्ट्रा गैजेट के प्रॉपर सिग्नल मिलता है और तो और इसके बैटरी की लाइफ भी काफी अच्छी है .

काफी रिसर्च के बाद टेक मोहल्ला की टीम ने दो नए फ़ोन का इस क्रम में चुनाव किया है जिसमे ओप्पो और विवो है . OPPO का OPPO A5S अ और VIVO का Vivo Y15 है . तो आइये इन फोन के बारे में बात करते हैं .

१. OPPO A5S

दोस्तों ओप्पो का A5S मोबाइल फोन तकनिकी तौर पर काफी अच्छा है . यह एक Android फोन है . इसके स्पेसिफिकेशन नीचे है . इसके RAM का size 4 GB है जबकि Internal Storage 64 GB का है. Android v8.1 Oreo बेस्ड इस फोन में सिग्नल के रेंज पर भी बहुत काम किया गया है ताकि यूज़र को असुविधा न हो और बिना किसी रुकावट के नेटवर्क कवरेज में रहें. तो आइये देखते हैं OPPO के OPPO A5S की और की खूबियाँ हैं .

Buy Now

OPPO A5S Mobile

OPPO Mobile A5S Review and Specifications
OPPO A5S (4GB RAM, 64GB Storage)
13 MP + 2 MP dual rear camera with AI face beauty
8 MP front camera
Android v8.1 Oreo based on Color OS 5.1 operating system
2.4GHz Mediatek 6765 octa core processor
2.4GHz Mediatek 6765 octa core processor
4 GB RAM
Dual SIM (nano+nano) dual-standby (4G+4G)
4230 mAH lithium-polymer battery
HD+ IPS capacitive multi touch screen with 1520 x 720 pixels resolution

२. Vivo Y15

ओप्पो के इस बेहतरीन फोन के अलावा हम Vivo Y15 के बारे में भी बात करेंगे जो है तो एक एंड्राइड फोन पर इसका version अलग है . इस फ़ोन में Android Pie v9.0 OS है . इसका प्रोसेसर भी थोडा अलग है MediaTek Helio P22 octa core जो बिलकुल ही flawless है . साथ ही कैमरे की बात करें तो ओप्पो के dual कैमरे की जगह इसमें 13MP+8MP+2MP triple rear camera है . अगर आप इस फोन को पसंद कर रहे है तो यह अक अच्छी चॉइस हो सकती है और आपकी सुविधा के लिए हमने लिंक नीचे दे दिया है जिसे आप नीचे दिए लिंक से खरीद सकते हैं .

Buy Now

VIVO Y15 Mobile

Vivo Mobile Y15 Review and Specifications

Vivo Y15 ( 4GB RAM, 64GB Storage)
13 MP + 8 MP + 2 MP triple rear camera
16 MP front camera
64GB internal memory expandable up to 256GB
Memory Storage : 4 GB RAM
16.15 centimeters (6.35-inch) with 720 x 1544 pixels resolution
Dual SIM (nano+nano) dual-standby (4G + 4G)
Android Pie v9.0 OS with MediaTek Helio P22 octa core processor
5000 mAH lithium-ion battery

अपने आपको नए टेक्नोलोजी से अपडेट रखने के लिए हमारे न्यूज़ लेटर को अपने ईमेल से सब्सक्राइब कर लें ताकि यह जानकारी आपको अपने ईमेल में ही मिलता रहे . टेक मोहल्ला के रिव्यू अगर आपको अच्छे लगते हैं तो शेयर ज़रूर करे.
आप किसी खास टेक्नोलॉजी या पप्रोडक्ट के बारे में अगर विशेष जानना चाहते हैं तो नीचे कमेन्ट में लिखे.